College Disha
/

ह्यूमन रिसोर्स (HR) मैनेजमेंट में करियर - क्या है, कैसे होता है, क्यों करते है और कहा से करे - पूरी जानकारी पढ़े हिंदी में

Update on 03 Oct, 22

5 minutes read

ह्यूमन रिसोर्स (HR) मैनेजमेंट में करियर - क्या है, कैसे होता है, क्यों करते है और कहा से करे - पूरी जानकारी पढ़े हिंदी में

क्या है ह्यूमन रिसोर्स (HR) मैनेजमेंट:

मैन्युफैक्चरिंग, शॉपिंग और लेदर इंडस्ट्री में इंडस्ट्रियल रिलेशन और लेकर डॉ में स्पेशलाइजेशन करने वा एचआर प्रोफेशनल की काफी डिमांड है। इसी तरह कुछ कंपनी में लर्निंग एवं डवलपमेंट प्रोफाइल्स को अधिक हायर किया जा रहा है। एजुकेशन सेक्टर में एचआर में पीएचडी करने वाले, जबकि आईटी, आइटीइएस, कंसल्टिंग सेक्टर में इंजीनियरिंग बैकग्राउंड वाले एचआर प्रोफेशनल की मांग है। जिन्हें सोशल सेक्टर का फैशन हो, वे एनजीओ के साथ करियर शुरू कर सकते हैं। आमतौर पर एचआर कोर्स के अंतर्गत पर्सनल मैनेजमेंट, लेकर डॉ, इंडस्ट्रियल रिलेशन आदि पर फॉक्स किया जाता है। लेकिन बीते कुछ वर्षों से ऑर्गनाइजेशन डवलपमेंट, स्ट्रेटेजिक एचआर मैनेजमेंट, ऑर्गेनाइजेशन बिहैवियर, ट्रेनिंग ऐंड डवलपमेंट, करियर डवलपमेंट, कोचिंग ऐंड मेंटरिंग, एम्प्लॉई एंगेजमेंट, कम्पेनसेशनल स्ट्रेटेजी आदि भी पढ़ाई जा रहे हैं।

काम (Work) प्रोफ़ाइल:

ह्यूमन रिसोर्ट मैनेजमेंट का मकसद कर्मचारी की परफॉर्मेंस को इस तरह से बढ़ाना है कि संस्थान के उद्देश्यों की पूर्ति हो सके। एक HR का रोल एम्प्लॉई का डाटा बेस मैनेज करने से लेकर, पर्सनल फाइल तैयार करना, फ़ायरिंग करना, पे-रोल प्रोसेस करना होता है। ये परफॉर्मेंस मैनेजमेंट, कम्पेनसेशन स्ट्रेटेजी आदि भी तैयार करते हैं। ऑफिस के वर्क कल्चर और एनवॉयर्नमेंट को कायम करना इनकी ही ज़िम्मेदारी होती है। एचआर नियमों के अनुसार, हर 50 एम्प्लॉई पर कम से कम एक एचआर पर्सन का होना जरूरी है।

क्या ज़रूरी एजुकेशन क्वालिफिकेशन होती हैं (HR) मैनेजमेंट के लिए

किसी भी स्ट्रीप में ग्रैजुएट एचआर कोर्स में एन रोल करा सकते हैं। हां, अगर साइकॉलॉजी में ग्रेजुएशन के बाद आप इसे ऑप्ट करते हैं, तो ऑर्गेनाइजेशन के बिहैवियर और डवलपमेंट को समझने में आसानी होगी। दूसरी ओर इकोनॉमिक्स ग्रेजुएट्स को एचआर के बिज़नेस कॉन्टेक्स्ट को समझने में मदद मिलेगी। इन दिनों इंजीनियरिंग ग्रेजुएट्स के बीच भी एचआर कोर्स में दाखिले का ट्रेंड देखा जा रहा है।

बेसिक स्किल्स:

फॉर्म एजुकेशन के अलावा एक एचआर प्रोफेशनल के पास स्ट्रॉन्ग इंटर पर्सनल स्किल्स होनी चाहिए। उन्हें एक प्रोसेस को डिज़ाइन और डेवलप करना आना चाहिए। इसके साथ ही इंग्लिश और कम्युनिकेशन स्कूल पर कमांड जरूरी है।

इंडस्ट्री डिमांड:

अमूमन हर इंडस्ट्री में एचआर प्रोफेशनल की डिमांड है। एजुकेशन इंस्टीट्यूट में भी बेहतर अवसर हैं। आप नेशनल एलिजिबिलिटी टेस्ट करियर करने के बाद किसी शिक्षक संस्थान से असिसटेंट प्रोफेसर या रिसर्च एसोसिएट के तौर पर जुड़ सकते हैं। इस तरह अपनी कॉलेज, एक्सपर्टीज और एक्सपीरियंस के आधार पर आप कोच या सेंटर या काउंसलर के रूप में भी काम कर सकते हैं। एक एचआर मैनेजर की औसत गैलरी पांच से छह लाख रुपये सालाना होती है।

मानव संसाधन प्रबंधन के उद्देश्य

HRM के उद्देश्यों को चार श्रेणियों में विभाजित किया जा सकता है:

1.सामाजिक उद्देश्य:

उपाय कंपनी और उसके कर्मचारियों की नैतिक और सामाजिक ज़रूरतों या चुनौतियों का जवाब देने के लिए किए जाते हैं। इसमें कानूनी मुद्दे जैसे समान अवसर और समान काम के लिए समान वेतन शामिल हैं।

2. संगठनात्मक उद्देश्य:

क्रियाएँ जो संगठन की दक्षता सुनिश्चित करने में मदद करती हैं। इसमें प्रशिक्षण प्रदान करना, किसी दिए गए कार्य के लिए कर्मचारियों की सही मात्रा को काम पर रखना या उच्च कर्मचारी प्रति धारण दर बनाए रखना शामिल है।

3. कार्यात्मक उद्देश्य:

दिशा निर्देश पूरे संगठन के भीतर मानव संसाधन को ठीक से काम करने के लिए उपयोग करते हैं। इसमें यह सुनिश्चित करना शामिल है कि मानव संसाधन के सभी संसाधनों को इसकी पूर्ण क्षमता के लिए आवंटित किया जा रहा है।

4. व्यक्तिगत उद्देश्य:

संसाधन प्रत्येक कर्मचारी के व्यक्तिगत लक्ष्यों का समर्थन करने के लिए उपयोग किया जाता है। इसमें शिक्षा या कैरियर के विकास के साथ-साथ कर्मचारी संतुष्टि को बनाए रखने का अवसर प्रदान करना शामिल है।

5.नेतृत्व तथा अभिप्रेरणा :

कल के मानव संसाधन प्रबंधकों को न केवल कार्णिक कार्यों में ही देखना होगा वरन् संपूर्ण संगठन के Actuating Process अर्थात् नेतृत्व तथा अभिप्रेरणा में भी शामिल होना होगा । इसी तरह से, मानवीय संसाधन प्रबंध एकमात्र HR प्रबंधक का काम नहीं होगा वरन् संगठन का प्रत्येक अधिकारी अपनी-अपनी यूनिट में लोगों के प्रभावी प्रबंध हेती उत्तरदायी बनाया जायेगा. अन: मानवीय संसाधनों का प्रबंध ऊपर नीचे तक सभी प्रबंधकों का और अधिक ध्यान आकृष्ट करेगा । मानवीय संसाधन प्रबंधक संगठन की नीतियों, कार्यक्रमों, योजनाओं तथा रणनीति यों में अहम भूमिका निभायेगा जबकि अन्य क्रियात्मक अधिकारी कार्णिक कार्यक्रमों में शामिल होंगे. प्रत्येक मानव संसाधन प्रबंध कार्यक्रम अन्य क्रियात्मक प्रबंधकों से परामर्श करके मानव संसाधन प्रबंधक द्वारा अली प्रकार नियोजित तथा निर्देशित करना होगा ।

एचआरएम में प्रवेश के लिए पात्रता मानदंड

एचआरएम पाठ्यक्रमों में शॉर्टलिस्ट होने का पहला चरण पात्रता मानदंड को समझना है। एक बार जब आप प्रवेश परीक्षा या उस संस्थान के लिए पात्र हो जाते हैं जिसमें आप आवेदन करना चाहते हैं, तो आप अन्य प्रक्रियाओं का पालन करने के लिए आगे बढ़ सकते हैं। प्रत्येक स्तर पर प्रत्येक पाठ्यक्रम की बुनियादी पात्रता मानदंड जानने के लिए पढ़ें:

डिप्लोमा स्तर: 10 + 2 ग्रेग के पूरा होने के तुरंत बाद डिप्लोमा कोर्स किया जा सकता है।

स्नातक स्तर: इच्छुक उम्मीदवार किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड या विश्वविद्यालय से 10 + 2 ग्रेग में न्यूनतम 50% अंक अर्जित करने के बाद स्नातक पाठ्यक्रम के लिए पंजीकरण कर सकते हैं।

स्नातकोत्तर स्तर: स्नातकोत्तर पाठ्यक्रमों को आगे बढ़ाने के लिए, आपको अंतिम वर्ष में न्यूनतम 50% समग्र प्रतिशत के साथ एआईसीटीई मान्यता प्राप्त संस्थान या विश्वविद्यालय से स्नातक की डिग्री होनी चाहिए।

डॉक्टर स्तर: डॉक्टरेट की डिग्री के लिए, आपके पास अंतिम वर्ष में न्यूनतम 50% समग्र प्रतिशत के साथ एआईसीटीई मान्यता प्राप्त संस्थान या विश्वविद्यालय से मानव संसाधन प्रबंधन में मास्टर डिग्री होना चाहिए।

एचआरएम प्रवेश परीक्षा: पेशेवर पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए, प्रवेश परीक्षा का स्कोर आपकी योग्यता का प्राथमिक परीक्षण है जिसे संस्थानों द्वारा स्वीकार किया जाता है। तो उन प्रवेश दरारों की सूची खोजें जो आपको HRM पाठ्यक्रमों में प्रवेश पाने में मदद करेंगे:

डिप्लोमा स्तर: हर राज्य अपनी अलग प्रवेश परीक्षा आयोजित करता है जो एचआरएम पाठ्यक्रमों में प्रवेश देने के लिए पॉलिटेक्निक संस्थानों द्वारा आयोजित की जाती है।

(स्नातक स्तर)


 स्नातक पाठ्यक्रम में प्रवेश के लिए, नीचे बताए अनुसार विश्वविद्यालयों में आवेदन करें:

  • डीयू काट
  • आईपीएमएटी 
  • एनपीएटी 
  • सिम्बायोसिस प्रवेश परीक्षा (सेट)
  • AIMA UGAT 
  • जीजीएसआईपीयू सीईटी बीबीए 
  • स्नातकोत्तर स्तर

स्नातक पाठ्यक्रम में प्रवेश के लिए, आप निम्नलिखित एमबीए प्रवेश परीक्षाओं में पंजीकरण कर सकते हैं:

  • कैट (सामान्य प्रवेश परीक्षा)
  • AIMA-MAT (मैनेजमेंट एप्टीट्यूड टेस्ट)
  • XAT (जेवियर एप्टीट्यूड टेस्ट)
  • IIFT (भारतीय विदेश व्यापार संस्थान)
  • SNAP (सिम्बायोसिस नेशनल एप्टीट्यूड टेस्ट)
  • GMAC द्वारा NMAT
  • CMAT (सामान्य प्रबंधन प्रवेश परीक्षा)
  • IBSAT (IBS एप्टीट्यूड टेस्ट)
  • MICAT (माइका एडमिशन टेस्ट)
  • एमएएच - एमबीए / एमएमएस सीईटी (महाराष्ट्र एमबीए कॉमन एंट्रेंस टेस्ट)

(डॉक्टर स्तर)
 

पीएचडी में प्रवेश के लिए। बेशक, आप इन परीक्षाओं के लिए पंजीकृत हो सकते हैं:

  • आईआईआईटी दिल्ली पीएचडी प्रवेश परीक्षा
  • फैकल्टी ऑफ मैनेजमेंट स्टडीज (एसएमएस), दिल्ली विश्वविद्यालय पीएचडी प्रवेश परीक्षा
  • अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय पीएचडी प्रवेश परीक्षा
  • इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय (इग्नू) प्रवेश परीक्षा
  • अनुसंधान प्रबंधन योग्यता परीक्षण आर-केट
  • सिम्बायोसिस यूनिवर्सिटी पीएचडी प्रवेश परीक्षा
  • XIMB-RAT (रिसर्च एप्टीट्यूड टेस्ट)

HRM विषय और सिलेबस

मानव संसाधन प्रबंधन के क्षेत्र में विभिन्न विशेषज्ञताएं हैं जो आपको दूसरों पर उद्योग में बढ़त हासिल करने में मदद करेंगी। एक विशेषज्ञता हालांकि आपके हाथ में अफसरों के व्यापक स्पेक्ट्रम को नीचे ले जाती है, लेकिन आपको उन नौकरियों की पेशकश को हड़पने का मौका देगी, जिनमें कुशल पेशे वरों की संख्या कम है।

तो यहाँ कुछ विशेषज्ञता है जो आमतौर पर एचआर भर्तीकर्ताओं द्वारा तत्पर हैं:

मानव संसाधन विभाग के प्रमुख कार्यों में से एक निरंतर भर्ती और स्टाफिंग में अपने समय और प्रयासों का निवेश करना है। इसलिए यदि आप इस क्षेत्र में विशेषज्ञ हैं, तो आप संगठन में रक्त पदों पर उपयुक्त कर्मचारियों को नियुक्त करने के लिए जिम्मेदार प्रमुख कर्मी बन जाएंगे।

मुआवजा और पुरस्कार प्रबंधन:

एक और महत्वपूर्ण पहलू जो संगठन में कर्मचारियों के हित को रखता है, वह है वेतन और मुआवजा। नासिक वेतन के संवितरण और आरंभिक कलाकारों के वेतन को समय पर संशोधित करने में मानव संसाधन विभाग की प्रमुख भूमिका है। कंपनी की वित्तीय स्थिति के साथ कर्मचारियों के वेतन को संरेखित करना भी महत्वपूर्ण है। इसलिए, यदि आप इस क्षेत्र में विशेषज्ञता प्राप्त करना चाहते हैं, तो वेतन, पीएन, क्षति पूर्ति, बोना, वेतन वृद्धि और अधिक से संबंधित प्रश्नों के साथ कर्मचारियों द्वारा झुंड के लिए तैयार रहें।

प्रशिक्षण और विकास :

कैरियर विकास का एक अनिवार्य हिस्सा प्रशिक्षण है जो उद्योग में नवीनतम विकास के साथ कर्मचारियों को बनाए रखता है। यह आवश्यक प्रशिक्षण के लिए व्यवस्था करने और कर्मचारियों को पर्याप्त सहायता प्रदान करने के लिए मानव संसाधन कर्मियों का आधार है। वास्तव में एक प्रशिक्षण योजना कार प्रदान करने के लिए प्रबंधन के साथ सहयोग करने का काम आपका केआरए बन जाएगा।

श्रम और कर्मचारी संबंध:

सभी मानव संसाधन कर्मियों के लिए उपयुक्त में यह विशेषज्ञता है क्योंकि कुछ कानून हैं जो हर संगठन को कर्मचारियों के कल्याण के लिए पालन करने की आवश्यकता है। सरकार ने कुछ नियमों को निर्धारित किया है जो पूर्वावलोकन को परिभाषित करता है जिसके भीतर प्रत्येक संगठन काम कर सकता है। इस विशेषज्ञता के तहत, आप अपने अधिकारों के बारे में जागरूक हो जाएंगे और नियोक्ता के शोषण से कर्मचारियों की रक्षा करेंगे।

HRM के टॉप कॉलेजेस भारत में:

हर साल NIRF उन बेहतरीन संस्थानों के लिए रैंकिंग शुरू करता है जो बेहतरीन प्लेसमेंट पैकेज, बेहतर फैकल्टी, स्टेट ऑफ़ द आर्ट इन्फ्रास्ट्रक्चर सपोर्ट और बेहतरीन रिसर्च के अवसर प्रदान करते हैं। एचआर के क्षेत्र में अपना करियर बनाने की इच्छा रखने वाले उम्मीदवारों के लिए, ये शीर्ष संस्थान हैं जिन्हें आपको उज्ज्वल कैरियर की नींव स्थापित करने के लिए लक्ष्य बनाना चाहिए।

क्रम संख्या
कॉलेजेस
लोकेशन

1.

इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ मैनेजमेंट

अहमदाबाद

2.

इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ मैनेजमेंट

बैंगलोर

3.

इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ मैनेजमेंट

कलकत्ता

4.

इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ मैनेजमेंट

लखनऊ

5.

इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी

बॉम्बे

6.

इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ मैनेजमेंट

कोझीकोड़

7.

इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी

खड़गपुर

8.

इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी

दिल्ली

9.

इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी

रुड़की

10.

ज़ेवियर लेकर रिलेशन्स इंस्टिट्यूट

जमशेदपुर

 

इस महीने के टॉप ट्रेंडिंग आर्टिकल्स
Why do We Need Career Counseling?
Top Management Colleges in India
Which Course is better & Job Oriented BBA or BCA?
What is a Scholarship?
What is Genetic Engineering?
How to Avoid Sleep While Studying?

 

Plan Your Career With Our Experts.

Plan Your Career With Our Experts.

Need help?

Copyright @2021.www.collegedisha.com. All rights reserved